प्टिहरी।सचिव, लोक निर्माण विभाग, औद्योगिक विकास (खनन), आयुष एवं आयुष विभाग, उत्तराखण्ड शासन डॉ. पंकज कुमार पाण्डेय द्वारा शुक्रवार को विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक ली गई।

सचिव पंकज कुमार पाण्डेय द्वारा क्रमवार सभी विभागों की समीक्षा करते हुए जनपद में मनरेगा के साथ कन्वर्जन में हो रहे कार्यों की सराहना करते हुए सभी कन्वर्जन कार्यों को बनाये रखने और आगे बढाने के निर्देश दिए गये। सभी अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि कहीं भी कोई समस्या आती है, तो डीएम, सीडीओ से चर्चा करें, और आंकड़ो तक सीमित न रहे उपलब्धि पर फोक्स करें। केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के सफल क्रियान्वयन हेतु शिक्षा, स्वास्थ्य, बाल विकास एवं पंचायती राज विभाग को मिलकर कार्य करने के निर्देश दिए गए।

लोक निर्माण विभाग एवं पीएमजीएसवाई की समीक्षा करते हुए सचिव ने भवान रोड़ पर बनाये जाने वाले ब्रिज एवं सुरक्षात्मक कार्य की तकनीकी जांच करने, एनएच-58 पर चिन्ह्ति संवेदनशील भूस्खलन वाली सड़कों के मरम्मत हेतु फोटो एवं अभिलेख उपलब्ध कराते हुए डिमांड भेजने, एनएच-58 चम्बा में भूस्खलन क्षेत्र जो आरडब्लू से बाहर है, उसको आपदा में प्रस्तावित करने के निर्देश दिये गये। सचिव ने कहा कि सभी सड़के गढ्ढामुक्त हों, जहां पर भी रोड़ सेफ्टी के कार्य किये जाने हैं, उनकी संयुक्त रिपोर्ट उपलब्ध कराते हुए डिमांड भेजने तथा बारिश के तुरन्त बाद कार्य शुरू करने के निर्देश दिए गए। कहा कि लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2024 की आचार संहिता से पूर्व योजनाओं की टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर निर्माण कार्य शुरू करना सुनिश्चित कर लें। जनपद स्तरीय प्लान रिंग रोड़ को अगले 50 साल को देखते हुए प्लान करने को कहा गया।

होम्योपैथिक विभाग को स्किन डिजिज जैसे रोग के निवारण हेतु क्लिनिक सेंटर सेंटर सेटअप करने, जल निगम को जल संयोजन के कार्यों में प्रगति लाने, क्षमतानुसार पानी उपलब्ध कराने, जल सरंक्षण के स्रोत विकसित कर आर्थिकी मजबूत करने तथा फील्ड में जाकर समस्याओं का निस्तारण करने के निर्देश दिए गए।

सचिव ने जनपद में मनरेगा द्वारा अन्य विभागों के साथ कन्वर्जन में किए जा रहे कार्यों की प्रसंशा करते हुए कहा कि अन्य जनपदों को भी इसका अनुसरण करना चाहिए। कहा कि कन्वर्जन में बड़े लेवल पर कार्य करें। आजीविका संवर्धन के लिए कलस्टर में कम करने तथा ऐसा तंत्र विकसित करने क्रय एवं विक्रय करने वाले एक दूसरे से कॉन्टेक्ट में रहें। सिंचाई विभाग को सोलर पंप में पाइप का उपयोग करने के निर्देश दिए गए, ताकि पानी और खर्च की बचत हो सके। कृषि विभाग को पीएम फसल बीमा योजना के तहत अधिक से अधिक किसानों को लाभान्वित करने, पशुपालन विभाग और डेयरी विभाग को दुग्ध उत्पादन बढ़ाने और मीट उत्पादन पर फोकस करने, शिक्षा विभाग को बच्चों के लर्निग आउटकम के लिए टीचर को मोटिवेट करने, स्वास्थ्य विभाग को शत प्रतिशत संस्थागत डिलीवरी करवाने तथा डेंगू के खिलाफ सभी विभागों को मिलकर अभियान चलाने के निर्देश दिए गए।

 

इस मौके पर जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने बताया कि जनपद में 100 से अधिक गर्भवती महिलाओं की हाई रिस्क पर रखा गया है, जिनकी लगातार स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा मॉनिटरिंग की जा रही है। एनीमिया मुक्त भारत कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद में कार्ययोजना तैयार कर समितियां गठित कर जागरूक किया जा रहा है।

 

इस मौके पर सीडीओ मनीष कुमार, आईएएस प्रशिक्षु आशिमा गोयल, एडीएम के.के. मिश्रा, एएसपी , सीएमओ मनु जैन, डीडीओ सुनील कुमार, सीएओ अभिलाषा भट्ट, सीईओ एस.पी. सेमवाल,सीवीओ आशुतोष जोशी सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

तत्पश्चात सचिव पंकज कुमार पाण्डेय द्वारा टिहरी रोड़ पर स्थित स्वयं सहायता समूह द्वारा संचालित जैविक आउटलेट का निरीक्षण, ग्राम पंचायत पलास नागणी विकास खंड चंबा में विभागीय योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर सम्बन्धित अधिकारियो को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

 

You missed