हरिद्वार। श्रीमती राधा रतूड़ी अपर मुख्य सचिव, सचिवालय प्रशासन, मा. मुख्यमंत्री, गृह एवं कारागर उत्तराखण्ड शासन की अध्यक्षता में मंगलवार को ऑपरेशन मुक्ति के तहत बाल श्रम, बाल विवाह एवं बाल भिक्षावृत्ति मुक्त कराये गये बच्चों के पुनर्वास के सम्बन्ध में वीसी के माध्यम से सभी जनपदों के जिलाधिकारियों के साथ एक आवश्यक बैठक आयोजित हुई।
बैठक में अपर सचिव गृह एवं कारागार ने ऑपरेशन मुक्ति के तहत बाल श्रम, बाल विवाह एवं बाल भिक्षावृत्ति मुक्त कराये गये बच्चों के पुनर्वास के सम्बन्ध में एक-एक करके सभी जनपदों के जिलाधिकारियों से विस्तार से जानकारी ली तथा इस सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।
बैठक में अपर मुख्य सचिव को जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने जनपद हरिद्वार में ऑपरेशन मुक्ति के तहत किये गये कार्यों के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये बताया कि इसके तहत 443 बच्चों का स्कूलों में प्रवेश कराया गया है। मिशन वात्सल्य के तहत जो भी दिशा-निर्देश हैं, वे जारी कर दिये गये हैं। इसके तहत जनपद में 105 कमेटियां गठित की गयी हैं, जिनकी संख्या बढ़ाने का निरन्तर प्रयास जारी है। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन मुक्ति की प्रगति की समीक्षा के लिये जनपद में अब प्रत्येक माह की 15 तारीख को एक समीक्षा बैठक आयोजित की जायेगी। उन्होंने बैठक में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम की प्रगति की जानकारी भी अपर मुख्य सचिव को दी। ं
इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री प्रमेन्द्र डोभाल, एस0पी0 सिटी श्री स्वतंत्र कुमार सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुश्री सुलेखा सहगल, सीओ सिटी सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

You missed