हरिद्वार। नोडल अधिकारी व्यय एवम मुख्य कोषाधिकारी रोमिल चौधरी ने हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों एवम प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि लोकसभा सामान्य निर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शी एवम भयरहित माहौल में संपन्न कराने के लिए प्रशासन वचनबद्ध है। सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक, व्यय प्रेक्षक, सहायक प्रेक्षकों, एफएसटी, एसएसटी, वीएसटी, एमसीएमसी, सी–विजिल, अकाउंटिंग टीम, जोनल व सैक्टर मैजिस्ट्रेट सहित अन्य माध्यमों से पैनी नज़र रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी प्रत्याशी धनबल का प्रयोग करने की कोशिश न करे। उन्होंने स्पष्ट कहा कि विधि विरुद्ध खर्च करने, पैड न्यूज, फेक न्यूज प्रसारित करने से बचें। आदर्श आचार संहिता का सही से अनुपालन करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने बताया कि आयोग द्वारा लोकसभा सामान्य निर्वाचन में प्रत्याशियों द्वारा खर्च करने की अधिकतम सीमा 95 लाख रुपए निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि पीला, सफेद व गुलाबी रजिस्टर सभी प्रत्याशियों पर उपलब्ध हैं, जिसमें प्रतिदिन का लेखा–जोखा नियमानुसार अंकित किया जाए और *3, 10 व 16 अप्रैल* को जिला निर्वाचन कार्यालय में उपस्थित होकर रजिस्टर का मिलान किया जाए तथा चुनाव परिणाम घोषित होने के 30 दिन के अन्दर निर्धारित प्रारूप में खर्चों की जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी एवम रिटर्निंग ऑफिसर को उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि चुनाव परिणाम से 26 वे दिन भी निर्वाचन व्यय रजिस्टरों के मिलान हेतु बुलाया जाएगा। इस प्रकार कुल चार बार निर्वाचन व्यय रजिस्टर मिलान के लिए बुलाया जाएगा।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि निर्धारित रेट लिस्ट के अनुसार ही खर्चे बुक किए जाएं, पूरी निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान किसी भी मद में 10 हजार रुपए से अधिक नकद भुगताद नहीं किया जाएगा। प्रत्याशियों के खर्चे नामांकन की तिथि से दर्ज किए जायेंगे तथा इससे पूर्व के खर्च पार्टी के खाते में दर्ज किए जाएंगे। जनसभाओं की अनुमति अवश्य लें और खर्च का ब्यौरा दें। इसके साथ ही स्टार प्रचारकों पर खर्च से संबंधित नियम, विभिन्न प्रकार की अनुमतियों सहित विभिन्न विषयों पर विस्तार से जानकारी दी।

प्रत्याशियों व उनके अभिकर्ताओं ने व्यय लेखा बनाने के संबंध में तमाम सवाल किए जिसका नोडल व्यय ने शालीनता से जवाब देते हुए सभी की शंकाओं का समाधान किया।

इस दौरान कांग्रेस से ओपी चौहान, बीजेपी से विमल कुमार, उमेश कुमार के निर्वाचन अभिकर्ता अब्दुल समी, निर्दलीय आशीष ध्यानी, अवनीश कुमार, विजय कुमार, पवन कुमार, सुरेश चंद सैनी, बीएसपी से मौलाना जमील, एमडीपी से अकरम हुसैन सहित संबंधित उम्मीदवार एवम उनके निर्वाचन अभिकर्ता उपस्थित थे।

You missed