हल्द्वानी। ट्रांसपोर्ट करोबारियों ने देवभूमि ट्रक ऑनर यूनियन के बैनर तले हड़ताल का ऐलान करते हुए आज से हड़ताल पर चले गए हैं। ट्रांसपोर्ट करोबारियों के हड़ताल पर जाने से पहाड़ को जाने वाले खाद्यान्न सहित अन्य सामग्री नहीं पहुंच पा रही है। ट्रांसपोर्ट करोबारियों का आरोप है कि पुलिस और सीपीयू द्वारा उनका लंबे समय से उत्पीड़न किया जा रहा है। ट्रांसपोर्ट कारोबारियों ने आज रानीबाग में पहुंचकर जमकर प्रदर्शन करते हुए पहाड़ को जाने वाले वाहनों को रोककर विरोध जताया।
ट्रांसपोर्टरों द्वारा वाहनों को रानीबाग में रोके जाने की सूचना के बाद भारी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंच गई। लेकिन ट्रांसपोर्टरों ने पुलिस की बात नहीं मानी और हड़ताल जारी रखी. ट्रांसपोर्ट कारोबारियों का कहना है कि जब तक पुलिस द्वारा उनका उत्पीड़न नहीं रोका जाएगा, तब तक उनकी तीन दिवसीय हड़ताल जारी रहेगी। साथी पहाड़ को जाने वाले खाद्यान्न सहित अन्य ट्रकों को रोका जाएगा। इस दौरान पुलिस और ट्रांसपोर्टरों के बीच जमकर नोकझोंक भी हुई। ट्रांसपोर्टरों का कहना है कि कोरोना संक्रमण काल से ही कारोबार में लगातार नुकसान झेल रहे ट्रांसपोर्टरों का पारा पुलिसिया कार्रवाई ने बढ़ा दिया है। हल्द्वानी से कुमाऊं में माल सप्लाई के दौरान जगह-जगह सीपीयू और पुलिसकर्मियों द्वारा ट्रक चालकों के चालान काटे जा रहे हैं। इतना ही नहीं वापसी के दौरान खाली ट्रकों तक का चालान बनाकर जमकर वसूली की जा रही है। वहीं, ट्रांसपोर्टरों से उत्पीड़न के मामले को लेकर कई बार एसएसपी, एसपी सिटी, डीएम समेत अन्य आला अफसरों से शिकायत कर चुके हैं। लेकिन ट्रांसपोर्टरों का उत्पीड़न खत्म नहीं हो रहा है। ऐसे में ट्रांसपोर्टरों ने निर्णय लिया कि 12, 13 और 14 सितंबर को विरोध स्वरूप हड़ताल पर रहेंगे। वहीं, ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के बाद पहाड़ों पर खाद्यान्न सप्लाई का संकट भी गहरा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *