नई दिलली। पश्चिम बंगाल और ओडिशा में यास तूफान का खतरा मंडरा रहा है। बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों में आज यास तूफान की तबाही देखने को मिल सकती है। चक्रवाती तूफान ‘यास’ बुधवार दोपहर तक ओडिशा के भद्रक जिले के धमरा बंदरगाह के पास दस्तक देनी शुरू कर दी है। फिलहाल, लैंडफॉल की प्रक्रिया शुरू हो गई है। ओडिशा और पश्चिम बंगाल में यास तूफान की वजह से कई राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है। फिलहाल, अगले कुछ घंटे काफी अहम होने वाले हैं। मंगलवार की शाम को यास भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया। इसके चलते पश्चिम बंगाल और ओडिशा सरकार ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जोखिम वाले क्षेत्रों से 12 लाख से अधिक लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। यास तूफान की वजह से बंगाल, ओडिशा और बिहार समेत झारखंड के मौसम पर भी असर पड़ा है। ओडिशा और बंगाल में कई जगहों पर लगतार बारिश हो रही है। ओडिशा के स्पेशल रिलीफ कमिश्नर पीके जीना ने बताया कि चक्रवाती तूफान यास के लैंडफॉल की प्रक्रिया सुबह करीब नौ बजे शुरू हुई और यह करीब तीन-चार घंटे तक जारी रहेगा। उम्मीद जताई जा रही है कि तूफान दोपहर तक मैदानी इलाकों की तरफ बढ़ जाएगा। यह धामरा और बालासोर के बीच लैंडफॉल बना रहा है। उन्होंने आगे कहा कि चक्रवाती तूफान यास बालासोर (ओडिशा) से लगभग 50 किमी दक्षिण-दक्षिण पूर्व में केंद्रित है और यह कुछ समय तक बालासोर की ओर रजारी रहेगा। दोपहर के बाद यह मयूरभांज जिले में प्रवेश करेगा। इस दौरान हवा की रफ्तार 120-130 किलोमीटर प्रति घंटे की तेजी से बह सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *