देहरादून। कोरोना संक्रमण की स्थिति सामान्य होने के बाद राज्य सरकार चारधाम यात्रा को चलाने पर विचार कर सकती है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने चारों धामों के कपाट खुलने पर श्रद्धालुओं को बधाई देते हुए कहा कि अभी स्थितियां थोड़ी विकट हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण का मामला थमा नहीं है। ऐसे में अभी फिलहाल चारधाम की यात्रा श्रद्धालुओं के लिए चलाई नहीं जा सकती है। जैसे ही स्थिति सामान्य होती है यात्रा फिर से शुरू की जा सकती है। उत्तराखंड के चारों धामों यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ धाम के कपाट तय समय पर पूरे विधि विधान के अनुसार खोले जा चुके हैं। 14 मई को यमुनोत्री धाम, 15 मई को गंगोत्री धाम, 17 मई को केदारनाथ धाम और 18 मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खोले जा चुके हैं। हालांकि, चारों धाम के कपाट खोले जाने के दौरान धामों के रावल और तीर्थ पुरोहित ही मौजूद रहे थे। कपाट खुलने के बाद धामों में सुबह-शाम इनकी मौजूदगी में ही पूजा व्यवस्था को संपन्न कराया जा रहा है। आपको बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए राज्य सरकार ने यह फैसला लिया था कि पिछले साल की तरह इस साल भी चारधाम के कपाट तय समय पर खोले जाएंगे, लेकिन चारधाम की यात्रा स्थगित रहेगी। यही नहीं, राज्य सरकार ने चारधाम के कपाट खोले जाने को लेकर गाइडलाइन भी जारी कर दी थी, जिसके अनुरूप ही चारों धामों के कपाट खोले गए हैं। ऐसे में उम्मीद है कि पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज जो संकेत दे रहे हैं वो सही साबित हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *