टिहरी। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने धमांदस्यु पट्टी के आपदाग्रस्त क्षेत्रों बवानी, कठ्या, बडल और धौड्याकला का मुआयना किया है। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने जान जोखिम में डालकर आपदाग्रस्त इलाके का निरीक्षण किया है। रास्ते क्षतिग्रस्त हो जाने से सुबोध उनियाल ने जेसीबी के पल्ले में बैठकर गदेरा पार किया।
बता दें, 28 अगस्त को मूसलाधार बारिश ने धमांदस्यु पट्टी के कई गावों में तबाही मचाई, जिससे क्षेत्र में भारी नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के मार्ग पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। अधिकांश खेत बह गये हैं। यहां नदी ने अपना रास्ता बदल दिया है, इससे यहां लगातार खतरा बना हुआ है। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने टिहरी जिलाधिकारी को सुरक्षा हेतु कार्य करने के लिए निर्देशित किया है। बता दें कि उत्तराखंड में बीते दिनों हुई बारिश ने जमकर कहर बरपाया था, जिसके बाद से ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे कई स्थानों पर मलबा आने के कारण बंद था। हालांकि, देवप्रयाग तक च्ॅक् की टीम ने मलबा हटाकर आवाजाही शुरू करा दी थी। अब तोताघाटी में ध्वस्त हुई सड़क को भी विभागीय कर्मचारियों ने आखिरकार छह दिन बाद दुरस्त कर दिया है, जिसके बाद हाईवे पर आवाजाही को चालू कर दिया गया है।
ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे बंद होने के कारण टिहरी और श्रीनगर में रोजमर्रा की जरूरत का सामान नहीं पहुंच पा रहा था। जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, लेकिन छह दिनों की लंबी जद्दोजहद के बाद आखिरकार विभाग ने सड़क निर्माण कर राजमार्ग पर आवाजाही को सुचारू कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *