हरिद्वार। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय सभागार आयोजित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वर्चुअल ’’वंचित वर्गो के लिए आउटरीच कार्यक्रम’’ प्रतिभाग किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभागार में पहुॅचकर दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम को बड़ी एलईडी स्क्रीन के माध्यम उपस्थित जन समूह द्वारा देखा व प्रधानमंत्री के सम्बोधन को सुना। इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सीवर टैंक आदि में कार्य करने वाले 10 व्यक्तियों को पीपीई किट प्रदान की।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि समाज के अंतिम छोर में खड़े हुए लोगों तक विकास की धारा पहुंचने, उनके उत्थान में पीएम-सूरज पोर्टल सहायता करेगा। इस पोर्टल के माध्यम से हमारे राज्य के 490 लाभार्थियों के साथ संवाद का यह प्रयास हम सभी के लिए बहुत ही गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि पीएम सुराज पोर्टल अर्थात प्रधानमंत्री सामाजिक उत्थान एवं रोजगार आधारित जनकल्याण को संदर्भित करता है, इस पोर्टल के माध्यम से समाज का उत्थान होगा एवं रोजगार से जनकल्याण का जो मार्ग है वह मार्ग प्रशस्त होगा, एक नया साधन है जो सामाजिक रूप से लाभार्थिक वर्गों को ऋण सहायता, आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में सहायता प्रदान करेगा और सरकार अपने नागरिकों के साथ संवाद स्थापित करके उनकी जो जरूरतें हैं, आवश्यकताएं हैं उनको समझने का प्रयास करेंगी, उनके निदान का प्रयास करेगी ताकि समाज में वंचित, दलित, शोषित, पिछड़े और सफाई कर्मी अपने जीवन में सकारात्मक जो परिवर्तन है उसका लाभ पा सकेंगे, समाज में इनका सहयोग और सहभागिता बढ़ने के साथ ही समानता और न्याय की भावना भी स्थापित होगी और आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पिछले 10 सालों का यदि हम कालखंड देखें तो इस कालखंड में माननीय प्रधानमंत्री ने हमेशा इन वंचित वर्गों, गरीबों, दलितों, समाज के अंतिम छोर में जो खड़े व्यक्तियों की आवश्यकताओं को प्राथमिकता देकर, उनको वरियता के आधार पर एक मंत्र लेकर लगातार काम किया है, संकल्प लेकर लगातार काम किया है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद लंबे समय तक देश में जो समानता के सिद्धांत की अनदेखी की गई है, 2014 से पहले समाज के एक बड़े वर्ग को मूलभूत सुविधाओं से लगातार वंचित रखा गया, लगातार उपेक्षित किया गया, उनके लिए योजनाएं नहीं बनी, लेकिन 2014 के बाद इन सभी के लिए, इन सबके कल्याण के लिए योजनाएं बनाई गई और वंचितों को वरियता दी है क्योंकि अब भारत में विकसित भारत का जो संकल्प लिया है और विकसित भारत बनने की दिशा में तीव्र गति से अब विकास के पथ पर अग्रसर हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि जो हमारा जो वर्ग उपेक्षित रहा है, वंचित रहा है, समाज के अंतिम छोर में रहा है, जिस तक विकास की मुख्य धारा नहीं पहुंची है वहां तक विकास पहुंचे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गरीब, पिछड़े, आदिवासी, छोटे किसान सहित सभी वर्गों का इसमें ध्यान रखा गया है। पीएम सूरज पोर्टल का शुभारंभ किया जाना इन सभी वर्गों के उत्थान के लिए है जिन्हें हमेशा हास्य पर रखा गया था। उन्होंने कहा कि एससी, ओबीसी, सफाई कर्मचारियों को एक लाख तक का ऋण दिए जाने का काम किया जाएगा। आज माननीय प्रधानमंत्री जी ने अभी सीधे डीबीटी के माध्यम से यह धनराशि अभी ट्रांसफर की है, इसके साथ ही नमस्ते आयुष्मान हेल्थ कार्ड, सेफ्टी टैंक, सीवर आदि की सफाई करने के दौरान सुरक्षा की दृष्टि के लिए पीपीई किट भी प्रदान की है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी की पहल यह दर्शाती है कि वह देश के हर वर्ग के उत्थान के लिए चिन्तित हैं और उनके उत्थान के लिए हमेशा कुछ न कुछ करना चाहते हैं, उनके परिवार को, उनके बच्चों को, उनके भविष्य को सुरक्षित करना चाहते हैं और इस सुविधा का जो लाभ है हर पात्र व्यक्ति को मिले, उसके लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों विकसित भारत संकल्प यात्रा के दौरान एक-एक गांव में जगह-जगह विकसित भारत संकल्प यात्रा के माध्यम से अनेक लोगों को विभिन्न योजनाओं का लाभ मिला है और जो वंचित रह गए थे उन सबको भी इन योजनाओं का लाभ मिला है। इसमें सरकार द्वारा गांव-गांव पहुॅचकर गरीब के दरवाजे पर जाकर उनको सीधे-सीधे लाभान्वित करने का काम किया है। कार्यक्रम के माध्यम से सरकार खुद चलकर दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों तक पहुंची है, जिन्हें कभी योजनाओं का लाभ नहीं मिला, दशकों तक सरकार की तरफ से कोई सभी सुविधा नहीं मिली थी उन सभी के जीवन का बदलने का यह सफल प्रयास रहा हैं। बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की ही तरह आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा असमानता का जो अंधेरा है, उस असमानता के अंधेरे को छॅाटने का काम लगातार अपने कालखंड में किया जा रहा है, क्योंकि जिस असामनता, अंधेरे के बीच पल कर बाबा साहब ने प्रेम, सम्मान, समानता को स्थापित किया, उसे आत्मसात करते हुए हमारे प्रधानमंत्री जी ने उसी भावना से सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास इस मूल मंत्र को लेकर निरंतर कार्य किया जा रहा है। हमें भी इस मंत्र को आत्मसात करते हुए शोषित, वंचित, दलित, पिछड़े हैं उनके कल्याण के लिए इस अवसर पर संकल्प लेना होगा कि हम सब उनके उत्थान एवं कल्याण के लिए काम करेंगे। उनकी प्राथमिकता के आधार पर काम करेंगे और जिनको भी सहायता की आवश्यकता है उन तक हर स्तर से हम सहायता पहुंचाने का काम करेंगे, तभी हम विकसित भारत के संकल्प को साकार कर पाएंगे और उत्तराखंड को भी देश देश का श्रेष्ठ राज्य बनाने का संकल्प है, उस दिशा में हम आगे बढ़ पाएंगे।

इस दौरान राज्यसभा सांसद कल्पना सैनी, जिला पंचायत अध्यक्ष किरन चौधरी, विधायक मदन कौशिक, आदेश चौहान, प्रदीप बत्रा, पूर्व विधायक संजय गुप्ता, कुॅव प्रणब सिंह चैम्पियन, डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल, एसएसपी प्रमेंद्र डोभाल, सीडीओ प्रतीक जैन, एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार, वीसी एचआरडीए अंशुल सिंह, एसडीएम अजयवीर सिंह, लक्ष्मीराज चौहान, एमएनए वरूण चौधरी, दर्जा राज्यमंत्री श्यामवीर सैनी, बीजेपी जिलाध्यक्ष संदीप गोयल, शोभाराम प्रजापति, पूर्व मेयर मनोज गर्ग सहित जनसमूह उपस्थित था।

You missed