हरिद्वार: जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता में मंगलवार को कलक्ट्रेट में जिला संड़क सुरक्षा समिति की एक बैठक आयोजित हुई।
जिलाधिकारी को बैठक में अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण श्री सुरेश तोमर ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से संड़क सुरक्षा से सम्बन्धित विभिन्न बिन्दुओं के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी।
श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने बैठक में ई-रिक्शाओं की संख्या सीमित करने के सम्बन्ध में जानकारी ली तो अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में जनपद मंे 16 रूटों मंे लगभग 9500 ई-रिक्शा संचालित हो रहे हैं, जिनकी संख्या सीमित करने के सम्बन्ध में विभिन्न विकल्पों का उल्लेख करते हुये प्रस्ताव परिवहन आयुक्त को प्रेषित किया गया है।
जिलाधिकारी द्वारा हिट एण्ड रन के मामलों के सम्बन्ध में जानकारी लेने पर पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हिट एण्ड रन के लम्बित मामलों को गंभीरता से लिये जाने तथा सड़क दुर्घटनाओं में घटित दुर्घटनाओं को समय से प्रेषित करने हेतु प्रभारी विवेचकों को निर्देशित किया गया है। बैठक में चण्डी देवी मार्ग के पास पहाड़ी से गिरने वाले पत्थरों/बोल्डरों को रोकने हेतु किये जा रहे उपायोें के सम्बन्ध में एनएचएआई के अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श हुआ, जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में अपना प्रस्ताव आपदा प्रबन्धन को प्रस्तुत करें तथा चण्डीदेवी की ओर जाने वाले ट्राईजंक्शन पर इण्टरलॉकिंग का कार्य करवाना सुनिश्चित करें।
श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने सड़क सुरक्षा की बैठक में जनपद की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के सम्बन्ध में जानकारी ली तो लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जनपद की कुल सड़कों की लम्बाई लगभग 4547 किमी. है, जिसमें एनएचआई, जिला पंचायत, स्थानीय निकायों, सिंचाई विभाग, गन्ना विकास विभाग, वन विभाग तथा अन्य विभागों की सड़कें शामिल हैं, जिसमें से लोक निर्माण विभाग के अधीन पैच के लिये चिह्नित 558.36 किमी. मार्गों के सापेक्ष 557.66 किमी. पैच कार्य किया जा चुका है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में सभी एसडीएम तथा अधिशासी अधिकारियों की एक बैठक आहूत की जाये तथा जितनी भी कार्यदायी संस्थायें हैं, उनके अधीन जहां पर भी पैच वर्क बचा है, वे उसको यथाशीघ्र पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिये कि आज की बैठक में जो भी अधिकारी उपस्थित नहीं हैं, उनका स्पष्टीकरण प्राप्त किया जाये एवं इसमें किसी भी तरह की हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जायेगी।
बैठक में सड़क सुरक्षा हेतु संयुक्त निरीक्षण की रिपोर्ट के आधार पर जनपद में जहां-जहां सड़क सुरक्षा सम्बन्धी निर्माण कार्य किये जाये जाने हैं, उनका भी अनुमोदन जिलाधिकारी द्वारा किया गया। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा हाईवे मार्गों के किनारे सूखकर गिरने वाले पड़ों के कटान/छटान के सम्बन्ध में जानकारी ली तो अधिकारियों ने बताया कि ऐसे वृक्षों की काट-छांट कर दी गयी है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि हरिलोक से कान्ति ढाबे तक खराब लाइट को ठीक कर दिया गया है।
जिलाधिकारी ने बैठक में बहादराबाद टोल प्लाजा पर हरिद्वार तथा रूड़की के स्थानीय लोगों की, टोल प्लाजा से गुजरते समय दिक्कतों का सामना करने सम्बन्धी शिकायतों का उल्लेख करते हुये एनएचएआई के अधिकारियों से इस सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की तो एनएचएआई के अधिकारियों ने बताया कि जो भी स्थानीय लोग बहादराबाद टोल प्लाजा से गुजरते हैं, तो सर्वप्रथम ऐसे स्थानीय लोग 330 रूपये का फास्ट टैग अपने वाहन में लगाते हुये टोल प्लाजा से अपना स्थानीय पास बनवा लें। तत्पश्चात उन्हें टोल प्लाजा से गुजरने पर किसी भी प्रकार की कोई भी दिक्कत नहीं आयेगी। उन्होंने यह भी बताया कि स्थानीय लोगों को अगर बहादराबाद टोल प्लाजा पर किसी भी प्रकार की दिक्कत आये तो वे बहादराबाद टोल प्लाजा के मैनेजर श्री देवेन्द्र चाहल के मोबाईल नम्बर-9818388836 पर सम्पर्क कर सकते हैं।
श्री धीराज सिंह गर्ब्याल ने बैठक में एआरटीओ सुश्री रश्मि पन्त से सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान के सम्बन्ध में जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि जनपद के 103 सरकारी स्कूलों में आगामी 19 दिसम्बर को स्कूली छात्रों को सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं से बचाव करने के सम्बन्ध में जानकारी देने के उद्देश्य से वृहद जागरूकता अभियान चलाया जायेगा।
बैठक में हॉट स्पॉट के सम्बन्ध मंे भी विस्तृत चर्चा हुई, जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि इन हॉट स्पॉट का संयुक्त कमेटी निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी तत्पश्चात सुरक्षा की दृष्टि से इन्हें जल्दी ही ठीक किया जायेगा। उन्होंने अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि जहां पर भी जेब्रा कासिंग बननी है तथा लाइट सम्बन्धी जो भी कार्य किये जाने हैं, उनका सम्पूर्ण प्रस्ताव यथाशीघ्र उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें ताकि सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित ये कार्य जल्दी से जल्दी किये जा सकें। बैठक में शंकराचार्य चौक पर यातायात संचालन की दृष्टि से क्या सुधार किये जा सकते हैं, के सम्बन्ध में विचाार-विमर्श हुआ।
इस अवसर पर एसपी क्राइम/ ट्रैफिक श्री ए0 गणपति, एसडीएम श्री अजय बीर सिंह, प्रशिक्षु आईएएस श्री दीपक सेठ, एएसडीएम रूड़की श्री विजयनाथ शुक्ल, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 मनीष दत्त, रेडक्रास सचिव डॉ0 नरेश चौधरी, एआरटीओ सुश्री रश्मि पन्त, सीओ ट्रैफिक श्री राकेश रावत, ईई लोक निर्माण श्री मोहम्मद आरिफ खान, अधिशासी अभियन्ता एनएचएआई रूड़की श्री अतुल कुमार शर्मा, सीएस लोक निर्माण श्री आलोक तोमर, एनएच से श्री राजीव कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

You missed