Uttarakhand Champawat Bypoll Latest News: उत्तराखंड के चंपावत में उपचुनाव के लिए वोटिंग जारी है। सुबह 11:00  बजे तक 33.96 प्रतिशत मतदान हुआ। उपचुनाव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत चार प्रत्याशी मैदान में हैं। दरअसल, विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री धामी को खटीमा से हार का मुंह देखना पड़ा था, ऐसे में क्षेत्र के पूर्व विधायक कैलाश गहतोड़ी ने यह सीट उनके लिए खाली कर दी थी। उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा के लिए 15 फरवरी को हुए मतदान के 106 दिन बाद 31 मई को चंपावत में दूसरी बार मतदान हो रहा है। पढ़िए आज दिनभर के पल-पल के अपडेट…

चंपावत सीट के अब तक निर्वाचित विधायक

  वर्ष                   विजेता                                    उप विजेता 
2002 कांग्रेस,      हेमेश खर्कवाल     8380      निर्दलीय मदन महराना    7985
2007 भाजपा,     बीना महराना       22928    कांग्रेस हेमेश खर्कवाल     15870
2012 कांग्रेस,     हेमेश खर्कवाल     20330     बसपा मदन सिंह महर    13377
2017 भाजपा,     कैलाश गहतोड़ी    36601    कांग्रेस हेमेश खर्कवाल    19241
2022 भाजपा,     कैलाश गहतोड़ी    32547    कांग्रेस हेमेश खर्कवाल    27243

दोपहर एक बजे तक 45.90 प्रतिशत मतदान

चंपावत विधानसभा उपचुनाव में दोपहर एक बजे तक 45.90 प्रतिशत मतदान हुआ। बूथों पर मतदाताओं की लंबी कतार लगी है। चुनाव कार्यालय के अनुसार चंपावत विधानसभा उपचुनाव में सुबह 11 बजे तक 33.96 फीसदी मतदान हुआ है। सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ था। मतदान के शुरुआती दो घंटे में 18 प्रतिशत वोट पड़े। बूथों पर मतदान के लिए लोगों के पहुंचने का सिलसिला जारी है।

चंपावत विधानसभा सीट में अब तक हुआ मतदान प्रतिशत

वर्ष     कुल मतदाता  मतदान   मत प्रतिशत 
2002     71020       38893      54.76
2007     94344       54727       64.88
2012     76385       58187      76.17
2017     88781       58979      66.43
2022     96016       63370      65.99

वोट देकर उत्साहित नजर आए बुजुर्ग मतदाता

90 वर्षीय त्रिलोक सिंह बोहरा जीआईसी बूथ में मताधिकार का प्रयोग करने के बाद बेहद खुश नजर आए। मतदान कर बाहर आने के बाद उन्होंने बेहद उत्साह के साथ अपनी खुशी जाहिर की। वहीं दिव्यांग मतदाता गिरीश चंद्र जोशी छह किलोमीटर किसकोट से मौराडी तक गांव के एक साथ के साथ बाइक पर वोट देने पहुंचे।

चंपावत करेगा उत्तराखंड के विकास का नेतृत्व

चंपावत चुनाव में सीएम धामी के समर्थन में प्रचार करने पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि चंपावत अब उत्तराखंड के विकास का नेतृत्व करेगा। उपचुनाव के लिए 31 मई को हो रहे मतदान में चंपावत के नागरिक सिर्फ विधायक नहीं, बल्कि मुख्यमंत्री को चुनेंगे।

भाजपा सरकार के पांच साल नाकामी का दस्तावेज : गहतोड़ी

चंपावत से लेकर प्रदेश के विकास में भाजपा सरकार के पांच साल नाकामी का दस्तावेज है। पांच साल में तीन मुख्यमंत्री देने वाली भाजपा आगे ऐसा नहीं करेगी, इसकी क्या गारंटी है। सीएम के मैदान में होने के बावजूद भाजपा डरी हुई है। पूरी सरकार के मंत्रियों, विधायकों और संगठन की फौज तो चंपावत में डटी ही है, अब यूपी के मुख्यमंत्री को भी चुनाव प्रचार के लिए लाना इस डर की तस्दीक करता है। – निर्मला गहतोड़ी, कांग्रेस प्रत्याशी। 

सुबह 11:00 बजे तक 33.96 प्रतिशत मतदान

चुनाव कार्यालय के अनुसार चंपावत विधानसभा उपचुनाव में सुबह 11 बजे तक 33.96 फीसदी मतदान हुआ है। सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ था। मतदान के शुरुआती दो घंटे में 18 प्रतिशत वोट पड़े। बूथों पर मतदान के लिए लोगों के पहुंचने का सिलसिला जारी है।
11:03 AM, 31-MAY-2022

क्यों हो रहा चंपावत उपचुनाव

विधानसभा में दो-तिहाई बहुमत लाने वाली भाजपा के सीएम पुष्कर सिंह धामी खटीमा सीट कांग्रेस के भुवन कापड़ी के हाथों हार गए थे। इसके बावजूद केंद्रीय आलाकमान ने उन पर विश्वास जताया और उन्होंने 23 मार्च को सीएम की दूसरी बार शपथ ली। 21 अप्रैल को चंपावत के विधायक कैलाश गहतोड़ी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया। दो मई को उपचुनाव की तिथि का एलान होने के बाद भाजपा ने चंपावत से धामी को प्रत्याशी बनाया।
10:55 AM, 31-MAY-2022

तीन जून को वोटों की गिनती

समीक्षक कहते हैं कि कांग्रेस की सारी ताकत इस उपचुनाव में दमदार मुकाबला करने की है। इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष, विपक्ष के नेता से लेकर पूर्व सीएम तक ने मोर्चा संभाला था। जोरदार संघर्ष कर इस नतीजे को दिलचस्प बनाने का कांग्रेस का इरादा पूरा हो पाएगा? तीन जून को वोटों की गिनती के साथ इसका उत्तर सामने आएगा।
10:33 AM, 31-MAY-2022

लोगों को बूथों तक लाने का प्रयास

लोग इस चुनाव को मुख्यमंत्री का निर्वाचन क्षेत्र बनने से विकास की आस संजोए हैं। राजनीतिक समीक्षकों का कहना है कि आम लोग इस वीआईपी सीट के जरिये भविष्य को लेकर संजोए सपने को हाथ से नहीं जाने देना चाहते। उपचुनाव में इतिहास रचने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रही भाजपा का प्रयास फरवरी में हुई वोटिंग (65.99 प्रतिशत) के लिए लोगों को बूथों तक लाने का है।
10:23 AM, 31-MAY-2022

सीएम धामी के चंपावत से प्रत्याशी होने से तीन बदलाव साफ हुए

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के चंपावत से प्रत्याशी होने से तीन बदलाव साफ हुए हैं। भाजपा की धड़ेबाजी खत्म हुई, कांग्रेस के पांच दिग्गज नेताओं सहित ढेरों पदाधिकारियों की दलीय निष्ठा बदल गई और सबसे बढ़कर आम लोगों का नजरिया बदला।
10:15 AM, 31-MAY-2022

तिकड़ी बनाने के लिए उत्सुक भाजपा

लगातार दो बार इस सीट को जीत चुकी भाजपा उपचुनाव जीत तिकड़ी बनाने के लिए उत्सुक है। पांच बार कांग्रेस से प्रत्याशी रहे दो बार के विधायक हेमेश खर्कवाल के बजाय पहली बार महिला प्रत्याशी को मैदान में उतार कांग्रेस ने महिला कार्ड खेलने का प्रयास किया है, लेकिन राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि अगर आखिरी वक्त पर कोई चमत्कारिक बदलाव न हुआ, तो अब तक के हालात इस प्रयोग को नाकाफी मान रहे हैं।
09:55 AM, 31-MAY-2022

पारंपरिक परिधानों में वोट डालने पहुंची महिलाएं

कनल गांव बूथ में महिला वोटर पारंपरिक परिधान में वोट डालने पहुंची। उपचुनाव को लेकर महिलाओं में भरपूर उत्साह नजर आया। चंपावत उपचुनाव में पहले दो घंटे में (9 बजे तक) 18 प्रतिशत वोट पडे़ हैं। विधानसभा के सबसे बड़े बूथ कुलेठी में नौ बजे तक 14.06 प्रतिशत मतदान हुआ।
09:43 AM, 31-MAY-2022

बूथों का दौरा करने पहुंचे सीएम धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी टनकपुर वन विश्रामगृह बूथ पहुंचे। यहां सीएम ने युवा मतदाताओं का उत्साह बढ़ाया। सीएम को अपने बीच पाकर युवा भी उत्साहित नजर आए। इस दौरान युवाओं ने सीएम के साथ फोटो भी ली।
सीएम धामी लगातार बूथों का दौरा कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *