हरिद्वार:  कुंभ मेले को लेकर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने एक बार फिर सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने  कहा कि जब उत्तर प्रदेश में माघ मेला परंपरागत और भव्य रुप से हो सकता है तो कुंभ के आयोजन के लिए तमाम तरह की पाबंदियां क्यों लगाई जा रही हैं।
मीडिया में जारी किए गए अपने बयान में बोलते हुए अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने उत्तर प्रदेश की सरकार और उनके अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में माघ मेला अपनी पूर्ण परंपरागत तरीके से संपन्न हुआ।
उसके लिए अधिकारी और मुख्यमंत्री धन्यवाद के पात्र हैं। वहीं उन्होंने उत्तराखंड सरकार से आग्रह किया कि माघ मेले की तर्ज पर होने वाले महाकुंभ मेले का आयोजन भी भव्य रुप से होना चाहिए।
उन्होंने कहा कि कुंभ में कथाएं भी होने चाहिए, कीर्तन भी होने चाहिए और संतों के लिए टेंट भी लगाये जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि माघ मेले के दौरान करोड़ों लोग माघ मेले में पहुंचे, लेकिन किसी को भी कोरोना नहीं हुआ। ना ही वहां पर किसी की भी कोरोना के कारण मृत्यु हुई और ना ही कोई कोरोना से पीड़ित है।
इसे देखते हुए उत्तराखंड सरकार भी हरिद्वार कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जो तमाम तरह की पाबंदियां लगा रही है, उन्हें हटाते हुए कुंभ का आयोजन भव्य रूप से सम्पन्न करें. जिसमें भजन-कीर्तन आदि सभी हो और संतों के लिए टेंट भी लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *