हरिद्वार:  पेशवाई का नेतृत्व आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद ने किया। अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने बताया कि पेशवाई में शामिल संतों पर एक हेलीकॉप्टर और दो ग्लाइडर से पांच कुंतल फूलों की बारिश की गयी।

इसके लिए बिजनौर और मंगलौर से गुलाब के फूल मंगवाए गए थें। कनखल में हेलीकॉप्टर फूल बरसाए गए। इसके बाद शिव मूर्ति चैक के पास फूलों की बारिश हुई। 25 बैंडबाजों में 100 लोगों की टीम शामिल थी। इनमें 50 महिलाएं और 50 पुरुष शामिल हैं।

संतो ने मास्क पहनकर कोविड से बचाव का संदेश दिया। शाम छह बजे पेशवाई निरंजनी अखाड़े के पास पार्किंग स्थल में बनी स्थायी छावनी में प्रवेश करेगी।

एसएमजेएन पीजी कॉलेज गोविंदपुरी से चंद्राचार्य चैक, शंकर आश्रम, सिंह द्वार, देशरक्षक चैराहा, दादू बाग, कनखल बाजार, कनखल चैक, शंकराचार्य चैक, तुलसी चैक, शिवजी की मूर्ति, ललतारौ पुल, गुर्जरवाला भवन, भाटिया भवन, चरण पादुका स्थल से होते हुए पंचायती अखाड़ा छावनी में प्रवेश करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *